Kathua Terror Attack: कठुआ में सैन्य वाहन पर आतंकी हमला, 5 जवान शहीद और 6 घायल

श्रीनगर, बीएनएम न्यूज। Kathua Terror Attack: जम्मू कश्मीर में सीमापार से आतंकियों को मिल रहा संरक्षण कम नहीं हो रहा है। यही कारण है कि उनकी संख्या काफी कम होने के बाद भी वे बीच-बीच में आतंकी वारदात को अंजाम दे रहे हैं। इसी कड़ी में जम्मू संभाग के जिला कठुआ में सोमवार को सैन्य वाहन पर आतंकियों ने हमला किया है। जवानों ने मौका संभालते हुए जवाबी कार्रवाई की है। लोहि मल्हार ब्लॉक के मचहेड़ी क्षेत्र के बडनोटा गांव की है। मचहेड़ी में आतंकियों और सुरक्षा बलों के बीच मुठभेड़ चल रही है। समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, इस हमले में 5 जवान बलिदान हो गए और छह जवान घायल हो गए हैं।

यह घटना शाम लगभग साढ़े तीन बजे हुई, जब बिलावर उपजिले में जेंडा नाले के पास सेना के 22 गढ़वाल राइफल्स के वाहन पर आतंकियों ने हमला किया। सेना का यह वाहन गश्त पर था। वाहन में दस जवान सवार थे। आतंकियों ने पहले ग्रेनेड फेंका। इसके बाद गोलीबारी शुरू कर दी। दहशतगर्दों की ओर से स्टील बुलेट के इस्तेमाल का शक है। जवानों ने भी मोर्चा संभालते हुए जवाबी कार्रवाई शुरू की। हमले के बाद आतंकी घने जंगल में भाग निकले। बताया जा रहा है, आतंकी ऊंचाई वाले इलाके में थे। जब तक जवान संभलते, तब तक उन्होंने अंधाधुंध फायरिंग शुरू कर दी थी।

 

आतंकियों ने सेना के इस वाहन पर हमला किया। पुलिस और सुरक्षा बलों की संयुक्त टीम मचहेड़ी क्षेत्र में तलाशी ले रही थी, जब आतंकियों ने उन पर फायरिंग की। - Dainik Bhaskar

उधर, सेना के ऑपरेशन में पैरा कमांडो शामिल किए गए हैं। उन्हें एयरलिफ्ट कर हमले वाले इलाके में ले जाया गया। घेराबंदी कर सेना बड़ा ऑपरेशन चलाकर आतंकियों के सफाये की तैयारी में है। घायल जवानों को पीएचसी बदनोता में प्राथमिक उपचार के बाद पठानकोट के सैनिक अस्पताल में भर्ती कराया है। बिलावर से बदनोता मार्ग पर वाहनों की आवाजाही रोक दी है।

मचहेड़ी क्षेत्र में तलाशी के दौरान हमला

जानकारी के अनुसार, जिला कठुआ के कंडी क्षेत्र लोहि मल्हार में जैंडा नाला के पास घात लगाए बैठे आतंकियों ने सैन्य वाहन को निशाना बनाया। आतंकियों ने सेना पर यह हमला तब किया, जब पुलिस और सुरक्षा बलों की संयुक्त टीम मचहेड़ी क्षेत्र में तलाशी ले रही थी। सूचना मिलते ही प्रदेश की पुलिस और सुरक्षाबलों की अन्य टीमें भी मुठभेड़ स्थल के लिए पहुंचीं। पूरे इलाके की घेराबंदी कर ली गई है। इस दौरान आसपास के संपर्क मार्गों को भी अलर्ट कर दिया गया है। जम्मू-कश्मीर का यह इलाका भारतीय सेना की 9वीं कोर के अंतर्गत आता है। रक्षा अधिकारियों ने कहा कि आतंकियों की गोलीबारी के बाद हमारे जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई की।

 

छह आतंकियों को मार गिराया

इस बीच कुलगाम में सेना ने दो अलग-अलग मुठभेड़ों में छह आतंकियों को मार गिराया है। इसके बाद 1एसईसी आरआर के कमांडर ब्रिगेडियर पृथ्वीराज चौहान ने कहा कि दक्षिण कश्मीर में आतंकियों का मारा जाना आतंकी संगठन हिजबुल-मुजाहिदीन के लिए बड़ा झटका है। कुलगाम में दो अलग-अलग जगह चली मुठभेड़ में सुरक्षाबलों के ये सफलता मिली। आतंकियों के पास हथियार भी बरामद किए गए। डीजीपी ने कहा कि कुलगाम में सफल ऑपरेशन और जनसहयोग से ऐसा लगता है कि हम आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई को जल्द इसके तार्किक निष्कर्ष पर ले जाने में सक्षम होंगे।

4 मई के हमले की तस्वीरें। आतंकियों ने जो गोलियां चलाईं, उनके निशान ट्रक के सामने लगे ग्लास पर देखे जा सकते हैं।

दो माह में दूसरा हमला

यह दो माह में सेना के वाहन पर दूसरा आतंकी हमला है। इससे पहले 4 मई को पुंछ के शाहसितार इलाके में एयरफोर्स के काफिले पर हमला हुआ था, जिसमें विक्की पहाड़े बलिदार हो गए थे और 4 अन्य जवान घायल हो गए थे। आतंकियों ने सुरक्षाबलों के दो वाहनों पर भारी फायरिंग की। दोनों गाड़ियां सनाई टॉप जा रही थीं।

वहीं दो दिन में यह सेना पर दूसरा हमला है। रविवार (7 जुलाई) की सुबह आतंकियों ने राजौरी जिले के मंजाकोट इलाके में एक आर्मी कैंप पर हमला किया था। इसमें एक जवान घायल हो गया। जवाबी कार्रवाई के बाद आतंकी घने जंगल के रास्ते भाग गए। सेना और पुलिस अब भी पूरे इलाके में सर्च ऑपरेशन चला रहे हैं।

 

 

CLICK TO VIEW WHATSAAP CHANNEL

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट , धर्म-अध्यात्म और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

You may have missed