Punjab News: पंजाबी गायिका गुरमीत बावा के परिवार को अक्षय कुमार ने की मदद, बेटी ग्लोरी को भेजे 25 लाख

अमृतसर, बीएनएम न्यूज : पंजाबी लोक गायिका और सर्वाधिक लंबी हेक की मालिक रहीं पद्म-भूषण स्वर्गीय गुरमीत बावा की पुत्री ग्लोरी बावा की सहायता के लिए बालीवुड अभिनेता अक्षय कुमार भी आगे आए हैं। उन्होंने ग्लोरी बावा की आर्थिक रूप से मदद करने के लिए उनके अकाउंट में 25 लाख रुपये ट्रांसफर किए हैं। इस बात की पुष्टि ग्लोरी बावा ने की है।

स्वर्गीय गुरमीत बावा और लाची बावा का साथ छूट जाने के बाद उनकी बेटी ग्लोरी को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा था। ग्लोरी अपना परिवार संभालने के साथ-साथ अपनी बहन लाची बावा के बच्चों को भी देख रही थी। लेकिन बहन का साथ छूट जाने के बाद से ही उन्हें शो नहीं मिल पा रहे थे और परिवार की आर्थिक हालत बिगड़ गई थी।

गुरमीत बावा के साथ गलोरी बावा व लाची बावा।

पंजाब छोड़ने की घोषणा कर दी

 

ग्लोरी ने बताया कि उनकी मां गुरमीत बावा सहित पिता किरपाल बावा के साथ बहन लाची बावा ने पूरी जिंदगी लचर गायकी से दूर रहते हुए पंजाबी सभ्याचारक गीतों को ही प्राथमिकता दी। कालेज प्रोफेसर रहीं ग्लोरी ने बताया कि नौकरी छूट जाने के बाद उन्होंने एक दिन परेशान होकर इंटरनेट मीडिया व कुछ निजी चैनलों पर पंजाब छोड़ने की घोषणा कर दी थी। उन्होंने किसी से आर्थिक मदद नहीं मांगी थी बल्कि विभिन्न प्रकार के होने वाले कार्यक्रमों में बुलाकर काम ही मांगा था। अभिनेता अक्षय कुमार के अलावा कई एनआरआइ भाई-बहनों व समाजसेवी संगठनों ने उनसे संपर्क करके उन्हें आर्थिक सहायता के रूप में राशि भेजी है। उल्लेखनीय है कि कुछ दिन पहले कैबिनेट मंत्री कुलदीप सिंह धालीवाल ने उनसे मिलकर अपना एक महीने का वेतन उन्हें सौंपा था। इसके अलावा जिला प्रशासन ने भी उनको आर्थिक मदद दी थी।

बैंक से फोन आया तो पता चला

ग्लोरी बावा ने बताया कि उन्हें बैंक मैनेजर का फोन आया, जिसके बाद उन्हें इसकी जानकारी मिली। बैंक मैनेजर ने बताया कि किसी अक्षय कुमार भाटिया ने बैंक एकाउंट में 25 लाख ट्रांसफर किए हैं। वे भी हैरान हैं कि वे आज तक अक्षय कुमार से नहीं मिली और ना ही कभी उनसे कभी बात की है।

जाने कौन हैं स्वर्गीय गुरमीत बावा

आपको बता दें कि गुरमीत बावा का जन्म 1944 में गांव कोठे गुरदासपुर में हुआ था। उस समय गुरमीत ने शादी के बाद पढ़ाई पूरी की। गुरमीत की शादी किरपाल बावा के साथ हुई। उन्होंने गुरमीत को जेबीटी कराई और वह पहली महिला थीं, जो टीचर बनीं।

गुरमीत सुरीली आवाज की मल्लिका थीं। पति के साथ मुंबई तक भी पहुंच गईं। पुराने समय में बॉलीवुड और पंजाबी इंडस्ट्री की फिल्मों व गानों में जितनी भी बोलियां डाली जाती थीं, उनमें अधिकतर गुरमीत की ही आवाज होती थी।

गुरमीत बावा को लंबी हेक की मल्लिका कहा जाता था। आज तक उनका रिकॉर्ड कोई तोड़ नहीं पाया। वह 45 सेकेंड तक हेक लगा लेती थीं। चार साल पहले उनकी बेटी लाची बावा का देहांत हो गया। जिसके बाद वे बीमार रहने लगी और तीन साल पहले उनका देहांत हो गया।

 

CLICK TO VIEW WHATSAAP CHANNEL

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट , धर्म-अध्यात्म और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

You may have missed