Toll Fee Hike: आज से महंगा हो गया राष्ट्रीय राजमार्ग पर सफर, टोल शुल्क में हुई औसतन इतनी बढ़ोतरी

नई दिल्ली, एजेंसी: Toll Fee Hike: राष्ट्रीय राजमार्ग का उपयोग करने वाले वाहन चालकों को सोमवार से अधिक भुगतान करना होगा। इसकी वजह यह है कि भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (NHAI) ने देशभर में टोल दरों में औसतन पांच प्रतिशत की बढ़ोतरी करने का फैसला किया है। टोल शुल्क में यह बढ़ोतरी पहले एक अप्रैल से लागू होना था, लेकिन लोकसभा चुनावों के कारण इस बढ़ोतरी को टाल दिया गया था। राजमार्ग प्राधिकरण से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा, ‘टोल शुल्क में प्रस्तावित बढ़ोतरी थोक मूल्य सूचकांक (CPI) आधारित मुद्रास्फीति से जुड़ी है। राष्ट्रीय राजमार्ग नेटवर्क के तहत लगभग 855 टोल प्लाजा हैं, जिन पर राष्ट्रीय राजमार्ग शुल्क (दरों का निर्धारण और संग्रह) नियम, 2008 के अनुसार यूजर चार्ज वसूला जाता है।

राष्ट्रीय राजमार्गों के विस्तार में मिलेगी मदद

राजमार्ग अधिकारी ने कहा कि टोल शुल्क में वृद्धि और ईंधन उत्पादों पर टैक्स राष्ट्रीय राजमार्गों के विस्तार में मदद करता है। हालांकि राजनीतिक दलों और परिवहन सेवा से जुड़े संगठन टोल शुल्क में वार्षिक वृद्धि की आलोचना करते हैं। उनका कहना है कि इससे आवश्यक वस्तुओं की परिवहन लागत बढ़ती और यात्रियों पर आर्थिक बोझ पड़ता है। टोल शुल्क में बढ़ोतरी से आइआरबी इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपर्स और अशोक बिल्डकान लिमिटेड जैसी कंपनियों को फायदा होगा। सरकार ने पिछले एक दशक के दौरान राष्ट्रीय राजमार्गों के विस्तार के लिए अरबों डालर का निवेश किया है। देश के कुल राष्ट्रीय राजमार्ग की लंबाई लगभग 1,46,000 किलोमीटर है, जो दूसरा सबसे बड़ा वैश्विक सड़क नेटवर्क है। 2018-19 टोल संग्रह करीब 25 हजार करोड़ रुपये था जो 2022-23 में बढ़कर 54 हजार करोड़ रुपये हो गया।

लोगों ने जताई नाराजगी

 

मानेसर निवासी हरजीत सिंह एवं जयशंकर सिंह कहते हैं कि टोल प्लाजा की वजह से आइएमटी मानेसर औद्योगिक क्षेत्र बर्बाद हो चुका है। यही नहीं सेक्टर-37, सेक्टर-34, सेक्टर-35, बसई एवं कादीपुर औद्योगिक क्षेत्र बर्बाद हो चुका है लेकिन कोई सुनने वाला नहीं। ऐसा लगता है कि चुनाव को देखते हुए नई दरें एक अप्रैल से लागू नहीं की गई थीं। मतदान संपन्न होते ही नई दरें लागू की जा रही हैं। सेक्टर-40 निवासी प्रभुदयाल आइएमटी मानेसर में संचालित एक आटोमोबाइल कंपनी में काम करते हैं। उनका कहना है कि प्रतिदिन सुबह-शाम टोल देने के बाद भी ट्रैफिक का दबाव झेलना पड़ता है। इस बार लग रहा था कि चुनाव की वजह से नई दरें लागू नहीं की जाएंगी लेकिन उम्मीदों पर पानी फिर गया। ऐसा लग रहा है जैसे मतदान संपन्न होने का इंतजार किया जा रहा था।

नियमित टोल शुल्क में 5 रुपये की वृद्धि

 

खेड़कीदौला टोल प्लाजा से निकलने वाले कार व जीप के लिए नियमित टोल शुल्क 80 रुपये की जगह 85 रुपये देने होंगे। मिनी बस टाइप वाहनों के लिए प्रति ट्रीप 120 रुपये की जगह 120 ही देने होंगे। बड़े कामर्शियल वाहनों (ट्रक, बस और इससे ऊपर के वाहनों) से प्रति ट्रीप 245 रुपये की जगह 250 रुपये लिए जाएंगे। निजी कारों के मासिक पास के लिए 920 रुपये की जगह 930 रुपये देने होंगे। छोटे कामर्शियल वाहनों के मासिक पास के लिए 1215 रुपये की जगह 1225 रुपये एवं मिनी बस टाइप वाहनों के मासिक पास के लिए 1790 रुपये की जगह 1805 रुपये देने होंगे। ट्रक, बस और इससे ऊपर के वाहनों के मासिक पास के लिए 3645 रुपये की जगह 3675 रुपये लिए जाएंगे। खेड़कीदाैला टोल प्लाजा के सहायक प्रबंधक मनोज कुमार का कहना है कि नई दरें लागू करने के लिए तैयारी पूरी कर ली गई हैं। सोमवार रात 12 बजे के बाद से नई दरें लागू हो जाएंगी।

 

 

 

CLICK TO VIEW WHATSAAP CHANNEL

 

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0