Haryana Politics: भूपेंद्र हुड्‌डा को बड़ा झटका, सोनीपत के मेयर निखिल मदान बीजेपी में हो सकते हैं शामिल

भूपेंद्र हुड्‌डा और निखिल मदान।

नरेन्द्र सहारण, सोनीपत : Haryana Politics: पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा और सांसद दीपेंद्र हुड्डा के करीबी कांग्रेसी मेयर निखिल मदान कांग्रेस को अलविदा कहकर गुरुवार को दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में भाजपा में शामिल होंगे। कई महीने से उनके भाजपा में शामिल होने की चर्चाएं थी लेकिन बार-बार तारीख बदल जा रही थी। उनके भाजपा में जाने से शहर में भाजपा को मजबूती मिलेगी। वे पंजाबी चेहरा माने जाते हैं। मेयर चुनाव में निखिल मदान ने भाजपा नेता ललित बतरा को हराया था।

पिछले कई महीने से भाजपा में जाने की हो रही थी चर्चाएं

मेयर निखिल मदान भूपेंद्र हुड्डा व दीपेंद्र हुड्डा के करीबी माने जाते हैं। वे टीम दीपेंद्र में भी शामिल हैं। सोनीपत को पूर्व सीएम हुड्डा का गढ़ माना जाता है। यहां पर छह में से चार विधानसभा क्षेत्रों में कांग्रेस के विधायक हैं और सांसद भी कांग्रेसी हैं। अब विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा यहां मेयर निखिल मदान को शामिल कर सियासी समीकरणों को अपने पक्ष में करने की तैयारी में है। 2020 में हुए नगर निगम के पहले चुनाव में निखिल मैदान ने कांग्रेस की टिकट पर मेयर का चुनाव लड़ा था। उन्होंने भाजपा के ललित बत्रा को 13817 वोट से हराया था वे सोनीपत के पहले मेयर हैं। निखिल मदान गुरुवार को दिल्ली स्थित हरियाणा भवन में केंद्रीय मंत्री मनोहर लाल, मुख्यमंत्री नायब सिंह सैनी और प्रदेश अध्यक्ष मोहन लाल बड़ौली की मौजूदगी में भाजपा ज्वाइन करेंगे। इसके लिए निखिल मदान ने अपने समर्थकों को दिल्ली चलने का न्योता भी दे दिया है। सुबह 10 बजे से समर्थकों के साथ दिल्ली के लिए रवाना होंगे।

विधायक सुरेंद्र पंवार से था विवाद

बताया जा रहा है कि मेयर निखिल मदान काफी दिनों कांग्रेस में असहज महसूस कर रहे थे। विधायक सुरेंद्र पंवार और निखिल मदान के बीच कुछ समय से उठा-पटक चल रही थी। दोनों एक-दूसरे के कार्यक्रमों में जाने से बचते थे। उनके भाजपा में शामिल होने से सोनीपत विधानसभा सीट पर सियासी समीकरण बदल जाएंगे। मेयर निखिल मदान को पंजाबी चेहरे के रूप में देखा जाता है। इसके साथ ही वे मजबूत उम्मीदवार भी माने जा रहे हैं। मेयर बनने के बाद उनका फोकस विधानसभा चुनाव लड़ने पर था। कांग्रेस की टिकट पर दावा कमजोर पड़ते देख वे भाजपा में जाने की जुगत में लगे थे। हालांकि भाजपा में भी विधानसभा टिकट हासिल करने के लिए उनको मेहनत करनी पड़ेगी। भाजपा में पूर्व मंत्री कविता जैन और मेयर चुनाव में उनके प्रतिद्वंद्वी ललित बत्रा पहले से ही टिकट के दावेदार हैं।

 

 

CLICK TO VIEW WHATSAAP CHANNEL

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट , धर्म-अध्यात्म और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0

You may have missed