Haryana Politics: हरियाणा की नायब सरकार से तीन निर्दलीय विधायकों के समर्थन वापसी पर फंस गया पेंच

नरेन्द्र सहारण, चंडीगढ़: Haryana Politics: भारतीय जनता पार्टी से समर्थन वापस लेने वाले तीन विधायकों के दावे पर पेंच फंस गया है। आज दूसरे दिन भी हरियाणा विधानसभा में इस बारे में कोई सूचना नहीं पहुंची है। इसके चलते विधानसभा स्पीकर के दृष्टिकोण से तीनों निर्दलीय विधायक भाजपा के साथ ही हैं। विधानसभा स्पीकर ने सरकार के फ्लोर टेस्ट को लेकर हर तरह के निर्णय के बारे में गेंद राज्यपाल के पाले में डाल दी है।

बुधवार को इस संबंध में कोई पत्र नहीं भेजा गया

 

निर्दलीय विधायक रणधीर गोलन, सोमबीर सांगवान तथा धर्मपाल गोंदर ने मंगलवार को रोहतक में पत्रकार वार्ता करके भाजपा से समर्थन वापस लेने तथा कांग्रेस को समर्थन देने का ऐलान किया था। तीनों विधायकों ने समर्थन वापसी को लेकर राज्यपाल के नाम लिखा हुआ एक पत्र भी मीडिया में जारी किया था। बुधवार को दिनभर राजभवन की तरफ से हरियाणा विधानसभा सचिवालय को इस संबंध में कोई पत्र नहीं भेजा गया। विधानसभा स्पीकर डा. ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि उनके पास अभी तक तीन विधायकों द्वारा समर्थन वापस लिए जाने के संबंध में कोई अधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है। उन्हें यह बात केवल मीडिया के माध्यम से ही पता चली है।

राज्यपाल को हर तरह का निर्णय करने का अधिकार

 

गुप्ता ने कहा कि इस समय सदन में विधायकों की संख्या 88 है, लेकिन तकनीकी आधार पर भाजपा के 40, कांग्रेस के 30, जजपा के 10, 6 निर्दलीय, एक-एक हलोपा व इनेलो का विधायक है। गुप्ता ने कहा कि विधायकों द्वारा समर्थन वापसी का पत्र अगर राज्यपाल को भेजा गया है तो राज्यपाल को उस पर निर्णय करना है। राज्यपाल अपने फैसले के बारे में विधानसभा को भी सूचित करेंगे। इसके बाद आगे क्या कार्रवाई करनी और कब करनी है इस बारे में भी फैसला राज्यपाल द्वारा ही लिया जाएगा। सरकार के फ्लोर टेस्ट के मुद्दे पर स्पीकर ने कहा कि 22 फरवरी को विधानसभा में विपक्ष द्वारा लाया गया अविश्वास प्रस्ताव गिर चुका है। इसके अलावा 13 मार्च को मुख्यमंत्री नायब सैनी ने विधानसभा के पटल पर विश्वास का मत हासिल किया है। ऐसे में छह माह तक दोबारा फ्लोर टेस्ट नहीं हो सकता है। आपात स्थिति में राज्यपाल को हर तरह का निर्णय करने का अधिकार है। राज्यपाल इस संबंध में कोई भी निर्णय लेकर विधानसभा को सूचित कर सकते हैं।

राज्यपाल को जाकर सरकार बनाने का दावा पेश करें दुष्यंत

दुष्यंत चौटाला द्वारा सरकार को गिराने के लिए हुड्डा को बाहरी समर्थन करने के बयान पर विधानसभा स्पीकर ने कहा कि अगर दुष्यंत के पास विधायकों का संख्या बल होगा तो वह राज्यपाल को जाकर सरकार बनाने का दावा पेश कर सकते हैं। विधानसभा के रिकार्ड में विधायकों की जो स्थिति पहले थी वही अब है।

भूपेंद्र सिंह हुड्डा सरकार गिराने के लिए कदम उठाएं : दुष्यंत चौटाला

जजपा के राष्ट्रीय वरिष्ठ उपाध्यक्ष दुष्यंत चौटाला ने कहा कि सरकार का बहुमत साबित करने के लिए जजपा राज्यपाल को पत्र लिखेगी। जजपा प्रदेश में भाजपा सरकार गिराने के पक्ष में है और इसके लिए समूचे विपक्ष का साथ देने को तैयार है। अब नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा भाजपा सरकार गिराने के लिए कदम उठाएं। दुष्यंत चौटाला ने कहा कि जजपा विधायक पार्टी में रहते हुए व्हिप का उल्लंघन नहीं कर सकते है। कोई विधायक व्हिप का उल्लंघन करेगा तो उस पर भी कड़ी कार्रवाई होगी। दुष्यंत चौटाला ने बताया कि जजपा ने तीन विधायकों रामनिवास सुरजाखेड़ा, जोगी राम सिहाग और रामकुमार गौतम को अन्य दलों की स्टेज शेयर करने के कारण नोटिस जारी किया है और उन पर पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते कार्रवाई की जाएगी। अगर किसी को अन्य दलों की मदद करनी है तो उन्हें विधायक पद से इस्तीफा देना पड़ेगा।

जजपा राज्यपाल को लिखकर दे, हम तुरंत राजभवन पहुंचेंगे : हुड्डा

हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री एवं विपक्ष के नेता भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि भाजपा के साथ गठबंधन तोड़ने का नाटक करने वाली जननायक जनता पार्टी (जजपा) को राज्यपाल को लिखकर देना चाहिए कि अल्पमत की सरकार को हटाया जाए, क्योंकि उसका बहुमत नहीं है। हुड्डा ने कहा कि यदि जजपा राज्यपाल को लिखकर देती है तो कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल भी राज्यपाल से मिलेगा और सरकार को बर्खास्त कर राष्ट्रपति शासन लगाने तथा विधानसभा चुनाव कराने की मांग करेगा। हुड्डा को जब बताया गया कि जजपा ऐसी उम्मीद कांग्रेस से कर रही है तो उन्होंने कहा कि पहले जजपा लिखकर दे, फिर हम राज्यपाल से मिलेंगे और राष्टपति शासन लगाने की मांग करेंगे। अभय चौटाला व बलराज कुंडू को भी सरकार के अल्पमत में होने पर  स्टैंड साफ करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: Haryana Politics: अल्पमत में आई हरियाणा की नायब सरकार, जानें क्यों नहीं है फिलहाल संकट

इसे भी पढ़ें: Haryana Politics: हरियाणा में नायब सैनी की सरकार पर संकट, सरकार बनाने में मदद करने वाले 3 निर्दलीय विधायक कांग्रेस को समर्थन देंगे

 

Tag- Haryana Politics, support withdrawal of three independent MLA, Nayab government, Haryana Government, Randhir Golan, Sombir Sangwan, Dharampal Gondar, Nayab Singh Saini, Bhupender Singh Hooda, Dushyant Chautala

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट , धर्म-अध्यात्म और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

You may have missed