Hisar Lok Sabha Seat : जयप्रकाश हिसार लोकसभा क्षेत्र से आठवीं बार मैदान में, पहली बार रणजीत चौटाला से होगा मुकाबला

हिसार लोकसभा सीट से कांग्रेस के जयप्रकाश और भाजपा के रणजीत चौटाला।

नरेन्द्र सहारण, हिसार। Hisar Lok Sabha Seat: हरियाणा की हिसार लोकसभा सीट काफी हॉट सीट मानी जाती है। 1952 में यह लोकसभा सीट अस्तित्व में आई थी। हिसार लोकसभा से कांग्रेस प्रत्याशी जयप्रकाश (Jaiprakash) जेपी 8वीं बार हिसार लोकसभा क्षेत्र के चुनाव मैदान में उतरे हैं। वह भजपा के प्रत्याशी रणजीत चौटाला के मुकाबले चुनावी मैदान में होंगे। सात बार हिसार लोकसभा के चुनाव में उतरे जेपी तीन बार जीत दर्ज कर संसद भी पहुंच चुके हैं। ऐसे में हिसार लोकसभा के सभी राजनीतिक दलों के प्रत्याशी अब मैदान में आ गए हैं। आपको बता दें कि 2004 के बाद कांग्रेस को यहां से जीत नसीब नहीं हुई है। वहीं, 57 साल के इतिहास में इस सीट पर बीजेपी को 2019 में पहली जीत मिली थी। 2019 के लोकसभा चुनाव में बृजेंद्र सिंह ने जननायक पार्टी के दुष्यंत चौटाला को हराया था। तीसरे नंबर पर कांग्रेस के भव्य विश्नोई थे।

बृजेंद्र सिंह और वीरेंद्र सिंह को लगा बड़ा झटका

 

बीजेपी को छोड़कर बृजेंद्र सिंह ने कांग्रेस का दामन थामा था, लेकिन कांग्रेस ने भी उन्हें टिकट न देकर जयप्रकाश को हिसार से टिकट दिया हैं। हिसार से बृजेंद्र सिंह का टिकट लगभग फाइनल माना जा रहा था, लेकिन लिस्ट जारी हुई तो उनके नाम की जगह जयप्रकाश के नाम पर मुहर लगी। सांसद बृजेंद्र सिंह पूर्व केंद्रीय मंत्री बीरेंद्र सिंह के बेटे हैं। 2019 में आइएएस की 19 साल पुरानी नौकरी छोड़कर वे भाजपा में शामिल हुए थे। बीरेंद्र सिंह को किसान नेता सर छोटूराम का राजनीतिक वारिस भी माना जाता है। बृजेंद्र सिंह ने 10 मार्च को ही कांग्रेस ज्वाइन की थी। अभी अप्रैल में बृजेंद्र सिंह के पिता बीरेंद्र सिंह भी कांग्रेस में शामिल हो चुके हैं।

पहली बार होंगे आमने- सामने

 

पहली बार रणजीत सिंह तथा जयप्रकाश आमने-सामने होंगे। 70 वर्षीय जयप्रकाश जेपी का मुकाबला 78 वर्षीय रणजीत सिंह से होगा। जेपी की शिक्षा स्नातक है। जयप्रकाश का एक बेटा और एक बेटी है।

क्या है जयप्रकाश का मजबूत पक्ष

 

-जयप्रकाश को लोकसभा क्षेत्र के लोगों की समस्याओं ओर शिकायतों की जानकारी है। उन्हें लोगों की नब्ज पकड़ने में माहिर माना जाता है।
-जयप्रकाश का राजनीति का लंबा अनुभव है। उन्हें हिसार लोकसभा से 7 बार चुनाव लड़ने का अनुभव है। तीन बार सांसद बन चुके हैं।
-2022 में आदमपुर उपचुनाव में बिश्नोई परिवार के सामने 51 हजार वोट हासिल किए।
-वह बतौर हिसार जिला अध्यक्ष और जिला प्रभारी के तौर पर काम कर चुके है।
-2022 के किसान आंदोलन में किसानों के पक्ष में खड़ा होना।
–जयप्रकाश पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा के काफी करीबी हैं।

क्या है जेपी का कमजोर पक्ष

 

-भूपेंद्र सिंह हुड्डा का करीबी होने के चलते एसआरके समेत सभी गुटों का सहयोग मिलना मुश्किल माना जा रहा है।
-हिसार जिले का निवासी न होना।
-कांग्रेस का मजबूत संगठन न होना भी चुनौती बनेगा।

2009, 2014 और 2019 लोकसभा चुनावों के आंकड़े

 

आपको बता दें कि 2019 के लोकसभा चुनाव में पूर्व केंद्रीय मंत्री वीरेंद्र सिंह के बेटे और पूर्व आइएएस बृजेंद्र सिंह ने जननायक पार्टी के दुष्यंत चौटाला को 3,14,068 लाख वोटों से हराया था। उस चुनाव बृजेंद्र सिंह को 603,289 लाख यानी 51 फीसदी वोट मिले थे, जबकि दुष्यंत चौटाला को 289,221 लाख यानी 25 फीसदी वोट मिले थे। तीसरे नंबर पर कांग्रेस के भव्य विश्नोई थे। भव्य विश्नोई को 184,369 लाख यानी मात्र 15 फीसदी वोट प्राप्त हुए थे. वहीं, 2014 में आइएनएलडी (INLD) के दुष्यंत चौटाला ने हरियाणा जनहित कांग्रेस के कुलदीप विश्नोई को 31,847 हजार वोटों से हराया था। उस चुनाव में तीसरे नंबर पर कांग्रेस के संपत सिंह रहे थे। 2009 में हरियाणा जनहित कांग्रेस के भजन लाल ने कांग्रेस के संपत सिंह को 6,983 हजार वोटों से शिकस्त दी थी।

हिसार सीट पर कब कब किसने जीता?

1991- नारायण सिंह (कांग्रेस)
1996- जय प्रकाश (हरियाणा विकास पार्टी)
1998 -सुरेंद्र सिंह बरवाला (इंडियन नेशनल लोकदल)
1999-सुरेंद्र सिंह बरवाला (इंडियन नेशनल लोकदल)
2004-जय प्रकाश (कांग्रेस)
2009- भजन लाल (हरियाणा जनहित कांग्रेस)
2011 -कुलदीप बिश्नोई (हरियाणा जनहित कांग्रेस)
2014- दुष्यन्त चौटाला (इंडियन नेशनल लोकदल)
2019- बृजेन्द्र सिंह (भारतीय जनता पार्टी)

 

इसे भी पढ़ें:  Haryana Congress Candidate: कांग्रेस ने आठ सीटों पर उतारे उम्मीदवार, हुड्डा के पसंदीदा जेपी को मिला टिकट

इसे भी पढ़ें:  Rohtak Lok Sabha Seat: दीपेंद्र हुड्डा रोहतक पांचवीं बार लड़ेंगे लोकसभा चुनाव, परंपरागत सीट पर धाक जमाने की चुनौती

इसे भी पढ़ें: Sonipat Lok Sabha Seat: जानें सतपाल ब्रह्मचारी को टिकट देने के मायने, कैसे कांग्रेस ने टिकट देकर खेला बड़ा दांव

इसे भी पढ़ें:  Sirsa Loksabha Seat : 26 साल बाद फिर से सैलजा की सिरसा संसदीय सीट पर हुई वापसी, अशोक तंवर से होगी कांटे की टक्कर

इसे भी पढ़ें: Ambala Loksabha Seat : अंबाला में कांग्रेस की खोई ताकत लौटाने के लिए मैदान में उतरे वरुण चौधरी, भाजपा की बंतो कटारिया से होगी टक्कर

Tag- Loksabha Election 2024, Jaiprakash, Hisar Lok Sabha seat, Ranjit Chautala, Haryana Congress Candidate, Haryana Congress, Brijendra Singh, Virendra Singh

 

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट , धर्म-अध्यात्म और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

 

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

You may have missed