Jaunpur News: शाहगंज में पत्रकार हत्याकांड का पुलिस ने किया खुलासा, महाराष्ट्र से मास्टरमाइंड जमीरुद्दीन गिरफ्तार

जौनपुर, बीएनएम न्यूजः शाहगंज कोतवाली पुलिस ने पत्रकार आशुतोष हत्याकांड का 48 घंटे के अंदर खुलासा करते हुए घटना मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया है। पुलिस ने पूरी घटना की स्क्रिप्ट लिखने वाले साजिशकर्ता जमीरुद्दीन कुरैशी को महाराष्ट्र के भिवंडी से गिरफ्तार किया।

फिलहाल उसके ट्रांजिट रिमांड की कार्यवाही की जा रही है। गिरफ्तार आरोपी कोतवाली का हिस्ट्रीशीटर, गैंगस्टर और कुख्यात गो तस्कर है। माना जा रहा है कि गो तस्करी के खिलाफ आवाज बुलंद करने की वजह से आशुतोष की हत्या की गई ।

गौरतलब है कि सोमवार सुबह करीब 9 बजे सबरहद गांव निवासी आशुतोष श्रीवास्तव को उनके घर से करीब 500 मीटर दूर स्थित इमरानगंज बाजार में सफेद अपाची बाइक से आए दो नकाबपोश बदमाशों ने गोली मार दी थी।

आशुतोष को सीने और पेट के ऊपरी हिस्से में चार गोलियां लगी थीं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया था। आशुतोष के परिजनों ने बताया था कि उन्हें जान का खतरा था । परिजनों ने आरोप लगाया था कि शाहगंज पुलिस को इस बात की जानकारी भी थी लेकिन पुलिस ने आशुतोष की सुरक्षा के लिया कुछ भी नहीं किया।

आरोपी को भिवंडी से किया गिरफ्तार

सीओ अजीत सिंह चौहान ने बताया कि सोमवार सुबह सबरहद निवासी आशुतोष श्रीवास्तव की हत्या के बाद कई टीमों को लगाया गया था। कई इनपुट्स के आधार पर घटना में थाने के हिस्ट्रीशीटर और सबरहद के ही निवासी गो तस्कर जमीरुद्दीन पुत्र स्व. हनीफ का नाम सामने आ रहा था।

जमीरुद्दीन ने पूरी घटना का ताना बाना रचा

सीओ ने बताया कि तफ्तीश में सामने आया कि महाराष्ट्र के भिवंडी में रहकर जमीरुद्दीन ने पूरी घटना का ताना बाना रचा और उसे दो भाड़े के शूटरों ने अंजाम दिया। जमीरुद्दीन की गिरफ्तारी और पूछताछ के लिए एक पुलिस टीम महाराष्ट्र भेजी गई।

वहां महाराष्ट्र पुलिस के सहयोग से उसे भिवंडी थाना क्षेत्र में गिरफ्तार किया गया। सीओ ने बताया कि आरोपी जमीरुद्दीन को जौनपुर लाने के लिए ट्रांजिट रिमांड की कार्यवाही की जा रही है। जल्द ही इसे जौनपुर में अदालत के सामने पेश किया जाएगा ।

जमीरुद्दीन हिस्ट्रीशीटर और पेशेवर अपराधी है

सीओ ने बताया कि जमीरुद्दीन हिस्ट्रीशीटर और पेशेवर अपराधी रहा है। उसके खिलाफ शाहगंज के अलावा सरपतहां, मुंडेरवा (बस्ती) और अकबरपुर (अंबेडकर नगर) थानों में कुल 18 मामले दर्ज हैं । इनमें अधिकांश मामले गोकशी के तहत दर्ज हुए हैं। एक मामला हत्या की कोशिश का भी है। इसके अलावा उसके खिलाफ गुंडा एक्ट और गैंगस्टर की भी कार्रवाई की जा चुकी है ।

आशुतोष ने मांगी थी सुरक्षा

आशुतोष अपनी खबरों को लेकर लगातार गोतस्करों और भूमाफियाओं की आंख में खटक रहे थे। लगातार उन्हें इसके फीडबैक भी मिल रहे थे। और इसी वजह से अपने ऊपर हमला होने की भनक आशुतोष को पहले ही लग चुकी थी। पता चला है कि उन्होंने एक माह पहले ही सीओ शाहगंज और थाना प्रभारी शाहगंज से जान व माल की रक्षा के लिए गुहार लगाई थी। उनकी गुहार पर ध्यान नहीं दिया गया।

पत्रकारों में रोष

पत्रकार आशुतोष श्रीवास्तव की हत्या के बाद जिले भर के पत्रकारों में आक्रोश फैल गया। शाहगंज के पत्रकार अस्पताल पहुंच गए। वहां पुलिस टीम से उनकी कहासुनी हुई। ज़िला मुख्यालय पर भी पत्रकारों ने घटना की निंदा करते हुए विरोध दर्ज कराया। अब इस घटना को लेकर लोगों के बीच विवाद गहरा गया है।

यह भी पढ़ेंः जौनपुर में पत्रकार की गोली मारकर हत्या, भूमाफियाओं के खिलाफ कर रहे थे काम

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0