Kaithal News: सिख युवक को खालिस्तानी कह कर मारपीट करने वाले दोनों आरोपी गिरफ्तार, जानें कैसे पकड़े गए आरोपी

नरेन्द्र सहारण, कैथल : Kaithal News: सिख युवक सुखविंद्र को खालिस्तानी कह कर मारपीट करने वाले दोनों आरोपितों को एसआइटी ने शुक्रवार को गिरफ्तार कर लिया गया है। दोनों आरोपियों को जींद के गांव पेगा से पकड़ा गया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान जींद के गांव सिंगवाल निवासी ईशु और कैथल के गांव शेरगढ़ निवासी सुनील के रूप में हुई है। दोनों आरोपियों को शनिवार को अदालत में पेश किया जाएगा।

दोनों आरोपी कैथल से फरार हो गए

मामले को लेकर एसपी उपासना ने सीआइए-वन थाना में प्रेसवार्ता की है। वारदात के बाद दोनों आरोपी कैथल से फरार हो गए थे। मारपीट के दौरान धार्मिक भावना को आहत करने वाले शब्द बोलने के आरोप थे। मामला गंभीर होने के कारण डीएसपी गुरविंदर सिंह की अध्यक्षता में पांच सदस्यों की एसआइटी बनाई गई थी। इसमें सीआइए-वन इंचार्ज इंस्पेक्टर महेंद्र सिंह, सिविल लाइन थाना प्रभारी इंस्पेक्टर शीलावंती, साइबर सेल प्रभारी एएसआइ सतबीर को टीम में शामिल किया गया था। दोनों को सीआइए-वन पुलिस के एसआइ जसवंत सिंह, एएसआइ प्रदीप कुमार, हेड कांस्टेबल सुभाष, हेड कांस्टेबल जयवीर व हेड कांस्टेबल जसमेर की टीम ने पकड़ लिया।

यह भी पढ़ें: Kaithal News: सिख युवक को खालिस्तानी बोलकर पीटने का गरमाया मामला, हालचाल जानने पहुंचे बलजीत सिंह दादूवाल

रेलवे फाटक पार करते समय कहासुनी

आरोपी ईशु कैथल में फाइनेंस का काम करता है तथा सुनील टैक्सी स्टैंड पर गाड़ी चलाने का काम करता है। प्रारंभिक पूछताछ में यह सामने आया है कि दस जून को रात नौ बजकर 55 मिनट पर रेलवे फाटक पार करते समय कहासुनी हुई थी। 10 जून की शाम दोनों आरोपियों ने करनाल बाईपास पर शराब पी थी। इसके बाद दोनों अंबाला बाईपास के पास अपने किसी दोस्त से मिलने के लिए जा रहे थे। जो रास्ते में फाटक के पास सुखविंद्र के साथ कहासुनी हो गई, जो थोड़ा आगे चलकर उनका झगड़ा हो गया। झगड़े में ईशु ने सुखविंद्र को ईट मारी। खालिस्तानी शब्द बोलने को लेकर पुलिस अभी पूछताछ कर रही है। इस मामले को लेकर सिख समाज ने आरोपितों के विरुद्ध धारा 307 जोड़ने की मांग की थी और अब पुलिस ने मामले में धारा 308 (गैर इरादतन हत्या करने का प्रयास) जोड़ दी है।

इस तरह से पकड़े गए आरोपी

दोनों आरोपी शहर के एक पेट्रोल पंप पर लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गए थे। पुलिस को वहां से बाइक का नंबर तो मिला, लेकिन वह भी अधूरा था। बाइक का नंबर नरवाना से रजिस्ट्रेशन हुआ था तो पुलिस ने एसडीएम नरवाना कार्यालय से 32 नंबर सीरिज के सभी नंबरों की जानकारी ले ली थी। जो जानकारी पुलिस के पास आई थी तो सभी से पूछताछ की गई थी। सीसीटीवी की फुटेज और बाइक के नंबर से आरोपितों की पुख्ता पहचान कर ली गई थी। मामला हाईलाइट होने के कारण दोनों आरोपितों ने अपने फोन बंद कर लिए थे।

 

 

CLICK TO VIEW WHATSAAP CHANNEL

 

यह भी पढ़ें: Kaithal News: मुख्यमंत्री के ‘शांतिदूत’ बन कैथल पहुंचे हरपाल सिंह, एसपी और घायल युवक से मुलाकात

 

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट , धर्म-अध्यात्म और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

You may have missed