भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच बने गौतम गंभीर, जानें कितना होगा कार्यकाल और कितनी मिलेगी सैलरी

नई दिल्ली, बीएनएम न्यूज। गौतम गंभीर पुरुषों की भारतीय क्रिकेट टीम के हेड कोच बन गए हैं। बीसीसीआइ सचिव जय शाह ने मंगलवार को इसका ऐलान किया। गौतम गंभीर को इस पद के लिए भारत के ही पूर्व क्रिकेटर डब्लूवी रमन से कड़ी चुनौती मिली, लेकिन आखिर में बीसीसीआई ने गौतम गंभीर के नाम पर मुहर लगाई। बीसीसीआई ने मई में आवेदन मंगवाए थे। इसके बाद दो लोगों का टेस्ट लिया गया था। गंभीर का एक खिलाड़ी के तौर पर टीम इंडिया के लिए शानदार करियर रहा है। गंभीर 2007 टी20 विश्व कप और 2011 वनडे विश्व कप विजेता टीम के अहम सदस्य रहे हैं। 42 साल के गौतम गंभीर ने राहुल द्रविड़ की जगह ली है। द्रविड का कार्यकाल टी-20 वर्ल्ड कप के बाद खत्म हो गया। गौतम गंभीर का कार्यकाल जुलाई 2027 तक रहेगा।

गौतम गंभीर ने डेढ़ महीने पहले कोलकाता नाइट राइडर्स को आइपीएल-2024 का चैंपियन बनाया था। वे इसी साल कोलकाता की फ्रेंचाइजी के मेंटॉर बने थे। इतना ही नहीं, गंभीर ने मेंटॉरशिप में लखनऊ सुपर जायंट्स को लगातार 2 सीजन के प्लेऑफ में पहुंचाया था।

गंभीर ने इस पोस्ट के जरिए हेड कोच बनने पर रिएक्शन दिया।

भारत मेरी पहचान, देश की सेवा करना गर्व की बात: गंभीर

खुद को हेड कोच बनाए जाने के बाद गौतम गंभीर ने सोशल मीडिया पोस्ट में लिखा कि इंडिया मेरी पहचान है और देश की सेवा करना मेरे लिए गर्व की बात है। टीम इंडिया में वापसी कर गौरवान्वित महसूस कर रहा हूं। हालांकि कैप अलग होगी, लेकिन मेरा लक्ष्य वही होगा, जो हमेशा से रहा है…हर भारतीय को गौरवान्वित करना। मैन इन ब्लू के कंधों पर 140 करोड़ भारतीयों के सपने हैं और मैं उन्हें पूरा करने का हरसंभव प्रयास करूंगा।’

जय शाह ने इस पोस्ट के जरिए गौतम गंभीर को हेड कोच बनाए जाने का ऐलान किया।

जानें जय शाह ने ट्वीट में क्या लिखा

बीसीसीआइ सचिव जय शाह ने एक्स की पोस्ट में लिखा कि मॉडर्न डे क्रिकेट का विकास तेजी से हुआ है और गौतम गंभीर ने इसे बड़े करीब से देखा हैं। गौतम ने करियर में कई कठिनाइयों को पार किया है। उन्होंने अलग-अलग रोल निभाया है। मुझे भरोसा है कि वे भारतीय क्रिकेट को आगे बढ़ाने के लिए आदर्श शख्स हैं। उनका दृष्टिकोण, अनुभव उन्हें भारतीय टीम की कोचिंग भूमिका को निभाने के लिए सक्षम बनाता है।

गौतम गंभीर (बाएं) टीम इंडिया के हेड कोच की पोजिशन लेंगे। वह राहुल द्रविड़ (दाएं) की जगह लेंगे, जिनकी कोचिंग में भारत ने 2024 का टी-20 वर्ल्ड कप जीता। - Dainik Bhaskar

गंभीर के पास कोचिंग का अनुभव नहीं

गंभीर को अंतरराष्ट्रीय या घरेलू स्तर पर कोचिंग का कोई अनुभव नहीं है, वह दो आईपीएल फ्रेंचाइजी में कोचिंग स्टाफ के इंचार्ज रहे हैं। IPL 2022 और 2023 में वे लखनऊ सुपर जायंट्स के मेंटॉर थे, वहीं 2024 सीजन में KKR के साथ जुड़े। गंभीर ने LSG में रहते पहले दोनों सीजन में टीम को प्लेऑफ तक पहुंचाया। वहीं, इस सीजन KKR को चैंपियन बनाया।

KKR टीम की यह फोटो 2012 की है, जब टीम पहली बार IPL चैंपियन बनी थी।

गंभीर ने बतौर खिलाड़ी प्लेयर 2 वर्ल्ड कप और 2 आइपीएल जीते

गंभीर बतौर खिलाड़ी 2007 में भारत की टी-20 वर्ल्ड कप जीत और 2011 में वनडे वर्ल्ड कप जीत का हिस्सा थे। उन्होंने 2011 से 2017 तक सात आइपीएल सीजन के लिए केकेआर की कप्तानी की और उन्होंने पांच बार प्लेऑफ के लिए भी क्वालिफाई किया। बतौर कप्तान उन्होंने साल 2012 और 2014 में दो खिताब जीते।

कोच गंभीर के सामने ये चुनौतियां

 

गौतम गंभीर के कार्यकाल की शुरुआत जुलाई में श्रीलंका के खिलाफ सफेद गेंद की सीरीज से होगी। इसके बाद टीम इंडिया बांग्लादेश और न्यूजीलैंड के खिलाफ दो घरेलू टेस्ट सीरीज खेलेगी। अंत में भारत को बॉर्डर-गावस्कर ट्रॉफी के लिए ऑस्ट्रेलिया का दौरा भी करना है, जिसमें पांच टेस्ट मैच खेलने हैं। फिर 2025 में पाक में चैंपियंस ट्रॉफी के अलावा उस साल के बीच में इंग्लैंड का दौरा भी करना है। 2026 में भारत और श्रीलंका टी20 विश्व कप की संयुक्त मेजबानी करेंगे और 2027 का वनडे विश्व कप दक्षिण अफ्रीका में खेला जाना है। कोच गंभीर को भारत के दो दिग्गज विराट कोहली (35 साल) और मौजूदा कप्तान रोहित शर्मा (37 साल) को भी संभालना होगा, जो करियर के अंतिम चरण में हैं।

कितनी होगी कोच के रूप में गौतम गंभीर की सैलरी?

 

टीम इंडिया को कोचिंग देना एक हाईप्रोफाइल काम है। देश-विदेश के बड़े दिग्गज टीम इंडिया के कोच बनने के लिए लालायित रहे हैं। हालांकि, बीसीसीआई कुछ सालों से भारतीय पूर्व क्रिकेटरों को ही कोच के रूप में प्राथमिकता दी है। इससे भारतीय टीम को फायदा भी हुआ है। यही कारण है कि बीसीसीआई कोच को एक बड़ी रकम सैलरी के रूप में देती है। पिछले कोच राहुल द्रविड़ को सालाना करीब 12 करोड़ रुपए सैलरी मिलती थी, यानी हर माह एक करोड़ रुपये मिलते थे। वहीं गौतम गंभीर को भी इस जिम्मेदारी के लिए लगभग सालाना 12 करोड़ से अधिक की सैलरी मिलने की उम्मीद है। वह पसंद के सपोर्टिंग स्टाफ की शर्तों के साथ कोच बनने के लिए राजी हुए हैं। सैलरी के अलावा भी बीसीसीआई की तरफ अन्य कई सुविधाएं कोचिंग स्टाफ को मुहैया कराई जाती है।

नवंबर 2021 में हेड कोच बने थे द्रविड़

राहुल द्रविड़ को नवंबर 2021 में भारत का हेड कोच बनाया गया, तब टीम इंडिया टी-20 वर्ल्ड कप के ग्रुप स्टेज से ही बाहर हो गई थी। 2022 के टी-20 वर्ल्ड कप में टीम ने फिर सेमीफाइनल खेला। 2023 में वनडे वर्ल्ड कप के बाद राहुल द्रविड़ का कार्यकाल खत्म हो गया, लेकिन टीम इंडिया के फाइनल में पहुंचने के कारण उनका कार्यकाल टी-20 वर्ल्ड कप तक बढ़ा दिया गया था। फिर राहु द्रविड़ ने भारत को टी-20 में वर्ल्ड चैंपियन बना दिया। 29 जून को भारत ने साउथ अफ्रीका को 7 रन से हराते हुए टी-20 वर्ल्ड कप जीता।

क्या हैं टीम इंडिया के कोच बनने की शर्तें

भारतीय क्रिकेट टीम के कोच बनने के लिए कई मानदंड निर्धारित हैं। कोई भी क्रिकेटर टीम इंडिया के कोच पद के लिए आवेदन नहीं कर सकता है। इसके लिए कुछ शर्तें लागू होती है।

  1. पहला शर्त यह है कि कोच पद के लिए जो भी आवेदन कर रहा है, वह कम से कम 30 टेस्ट या 50 वनडे मैच खेले हों। या फिर किसी फुल मेंबर टेस्ट नेशनल प्लेइंग टीम को कम से कम दो साल के लिए कोचिंग दिया हो।
  2. दूसरी शर्त यह है कि उम्मीदवार किसी एसोसिएट सदस्य या आईपीएल टीम या फिर इसके बराबर की कोई इंटरनेशनल लीग, फर्स्ट क्लास टीम, नेशनल ए टीम का कम से कम 3 साल के लिए कोच रहा हो।
  3. तीसरी शर्त यह है कि उम्मीदवार बीसीसीआई लेवल 3 सर्टिफिकेशन के समकक्ष को और उसकी आयु 60 वर्ष से कम हो।

 

 

CLICK TO VIEW WHATSAAP CHANNEL

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट , धर्म-अध्यात्म और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0

You may have missed