Kaithal News: बिजली विभाग की लापरवाही के कारण काटनी पड़ी बाजू, एसडीओ, जेई, लाइनमैन समेत अन्य पर केस दर्ज

नरेन्द्र सहारण, कैथल। Kaithal News: सरकारी विभागों में आम लोगों की शिकायतों को गंभीरता से नहीं लेने के कारण कई बार जान पर बन आती है। ऐसा ही हरियाणा के कैथल के हजवाना गांव में देखने को मिला, जहां बिजली विभाग की लापरवाही का खामियाजा पूरे किसान परिवार को भुगतान पड़ा और उनके जान पर बन आई। किसान परिवारकी शिकायत पर पुलिस ने एसडीओ, जेई समेत लाइनमैन व अन्य पर सोमवार को केस दर्ज किया है। यह मामला है बीते एक जुलाई को बिजली के ढीले तार की चपेट में आकर चार लोगों के झुलसने का है।

बिजली के ढीले तार ने चपेट में ले लिया

खराब हुई सबमर्सिबल की मोटर को निकालने के लिए खेत में मशीन को ले जा रहे किसान और उसके परिजनों को बिजली के ढीले तार ने चपेट में ले लिया। ढीले तारों के संपर्क में आने से बिजली के करंट से परिवार के कई लोग झुलस गए। इनमें दो लोगों को गंभीर हालत में चंडीगढ़ पीजीआई रेफर किया गया। रविवार को इन दोनों की जान बचाने के लिए चिकित्सकों को एक-एक बाजू काटनी पड़ी। दूसरी ओर अन्य दो घायलों का इलाज कैथल के एक निजी अस्पताल में चल रहा है। इस कारण उन्हें लाखों रुपये इलाज में खर्च करना पड़ रहा है।

खेत के ऊपर गुजर रही हाईवोल्टेज लाइन

हजवाना गांव निवासी गुरमीत सिंह ने पूंडरी थाना में शिकायत दी कि बिजली निगम ने उनके खेत के ऊपर 11000 हाई वोल्टेज की बिजली लाइन को निकाल रखा है। उसकी ऊंचाई मुश्किल से 10 फीट है। इस संबंध में उसने बिजली निगम के एसडीओ को व अन्य सभी कर्मचारियों जेई व लाइनमैन बार-बार अवगत करवाया था। उसके बावजूद उन्होंने इस मुद्दे पर गंभीरता से नहीं लिया। बीते एक जुलाई को वह और उसके परिवार के सदस्य नवाब सिंह, सिंटू सिंह व नवाब सिंह का 15 वर्षीय लड़का अमन खेत में काम कर रहे थे।

बिजली के करंट ने पूरे परिवार को चपेट में ले लिया

उस स्थान पर हाई वोल्टेज का तार खेत के ऊपर था। वे खराब सबमर्सिबल की मोटर को निकालने के लिए मशीन ले जा रहे थे। इस बीच वह बिजली के तार नीचे होने के कारण उनसे टकरा गई। नतीजा, करंट ने उन सभी को चपेट में लिया। हादसे में वे बुरी तरह झुलस गए।

दो लोगों को चंडीगढ़ रेफर करना पड़ा

परिवार के सदस्यों ने उन्हें इलाज के लिए कैथल के एक निजी अस्पताल में दाखिल करवाया। वहां से उसे और अमन को निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया, जबकि नवाब व सिंटू की गंभीर स्थिति को देखते हुए चंडीगढ़ पीजीआई रेफर कर दिया। उनकी गंभीर हालत देख जान बचाने के लिए चिकित्सकों को दोनों की एक-एक बाजू काटनी पड़ी।

अब निगम ने की लापरवाही को छुपाने की कोशिश

शिकायतकर्ता ने आरोप लगाया कि अब निगम ने लापरवाही को छुपाने के लिए 4 जुलाई को रात 10 बजे से सुबह चार बजे के बीच ढीली तारों को खींच दिया। यह हादसा आरोपी निगम के एसडीओ, जेई और लाइनमैन की भारी लापरवाही के कारण हुआ है। इस बारे में जांच अधिकारी रणदीप ने बताया कि पुलिस ने शिकायत के आधार पर आरोपी अधिकारियों और कर्मचारियों के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। जांच में मिले तथ्यों के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।

इस मामले में बिजली निगम के एसई सोमबीर भलोठिया ने कहा कि उन्हें इस घटना का काफी दुख है। जहां पर ऐसी समस्या है, उसे जल्द ही वहां से दूर करवा दिया जाएगा।

 

 

CLICK TO VIEW WHATSAAP CHANNEL

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट , धर्म-अध्यात्म और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
1
+1
0
+1
0
+1
0

You may have missed