Karnal By Election: हरियाणा सीएम के खिलाफ कांग्रेस प्रत्याशी ने लगाए खुद की पार्टी के नेताओं पर आरोप, बोले- अपनों ने ही मेरी पीठ में छुरा घोंपा

तरलोचन सिंह।

नरेन्द्र सहारण, करनाल। Karnal By Election: हरियाणा के करनाल उप चुनाव में मतदान के दूसरे दिन कांग्रेस की गुटबाजी एक बार फिर बाहर आ गई है। हरियाणा सीएम नायब सैनी के खिलाफ करनाल विधानसभा सीट से उपचुनाव लड़ने वाले कांग्रेस उम्मीदवार तरलोचन सिंह ने अपने बयान से कांग्रेस में खलबली मचा दी है। मतदान के अगले ही दिन तरलोचन ने समर्थकों का धन्यवाद करते हुए कुछ नेताओं के पीठ में छूरा घोंपने की बात कह दी। तरलोचन ने यहां तक कहा कि इसके बारे में वह सभी नेताओं के नाम हाईकमान को लिखकर भेजेंगे। अगर कार्रवाई नहीं की गई तो फिर वे हाईकमान के दफ्तर के आगे धरने पर बैठ जाएंगे। आपको बता दें कि तरलोचन सिंह पूर्व सीएम भूपेंद्र हुड्‌डा के करीबी हैं। कांग्रेस की तरफ से उनकी टिकट की घोषणा होने से पहले ही हुड्‌डा ने उनका नामांकन तक भरवा दिया था। वहीं तरलोचन सिंह के इस दावे के बाद कांग्रेस में हुड्‌डा और एसआरके (कुमारी सैलजा, रणदीप सुरजेवाला व किरण चौधरी) गुट के बाद हुड्‌डा ग्रुप के भीतर ही गुटबाजी शुरू हो गई है।

तरलोचन सिंह की कही ये अहम बातें

फोन करके लोगों का कहा भाजपा को वोट देना

तरलोचन सिंह ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस में कुछ नेता ऐसे भर्ती हो रखे है, जिन्होंने समर्थन में वोट मांगने की जाय कांग्रेस के खिलाफ वोट करने के लिए कहा। इसके लिए फोन भी किया गया। वहां उन्हें कहा गया कि भाजपा को वोट दे देना। ऐसे में वे कांग्रेस के वफादार कैसे हो सकते हैं। हालांकि, तरलोचन सिंह ने उन कांग्रेसियों के नामों का खुलासा करने से मना कर दिया, लेकिन इतना जरूर कहा है कि मैं नामों का भी खुलासा कर दूंगा, जब समय आएगा। ऐसे नेताओं से हमारे बड़े नेताओं को भी सावधान रहना पड़ेगा।

छूरा घोपे जाने का बाद में पता चलता है

 

तरलोचन सिंह के चुनाव प्रचार के दौरान सभी नेता नजर आए थे, इस सवाल पर तरलोचन सिंह ने कहा कि चुनाव प्रचार के दौरान नेता साथ जरूर थे, लेकिन छूरा तो धीरे से और पीछे से ही घोंपा जाता है। इन नेताओं या फिर कार्यकर्ताओं में से किसने छूरा घोंपा है, उसका भी पता चल चुका है, समय आने पर खुलासा भी कर देंगे। इस पूरे मामले की शिकायत कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे से की जाएगी और उसकी कॉपी ऊपर से लेकर नीचे तक के नेताओं को दी जाएगी।

मुझे हराकर खुद चुनाव लड़ना चाहते हैं

तरलोचन सिंह ने कहा कि चुनाव में हार और जीत होना एक अलग मुद्​दा है, लेकिन दगाबाज नेताओं या फिर कार्यकर्ताओं ने अपना फर्ज नहीं निभाया, उल्टा नेगेटिव बोले। हम सरकार के सामने चुनाव लड़ रहे थे और पूरी मेहनत की। कार्यकर्ताओं ने भी पूरी मेहनत की लेकिन कुछ लोगों ने दूसरों को फोन कॉल्स किए और नेगेटिव प्रचार किया। अगर मेहनत सभी करते तो उसमें कोई मुद्दा नहीं था। जो भी कुछ हुआ है उसके सबूत हमारे पास है। खुद की महत्वाकांक्षा के लिए उन नेताओं ने यह सोचा कि अगर तरलोचन सिंह चुनाव हार जाता है तो अगला चुनाव हम लड़ेंगे।​​​​​

 

उन्होंने जिला प्रशासन द्वारा मतदान और ईवीएम की सुरक्षा के इंतजामों पर भरोसा जताते हुए कहा कि कांग्रेस के स्थानीय कार्यकर्ताओं और बड़े नेताओं ने उनका पूरा साथ दिया, उनके लिए कड़ी मेहनत भी की है, जिसके लिए उनका आभार भी जताया।

 

CLICK TO VIEW WHATSAAP CHANNEL

यह भी पढ़ें: Haryana LS Result 2024: सोनीपत में कम-अधिक वोटिंग से हार-जीत का गणित लगाते रहे प्रत्याशी

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट , धर्म-अध्यात्म और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

 

 

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0