सपा शासन में मुख्यमंत्री आवास बुलाकर दंगाइयों का किया जाता था महिमामंडनः योगी

कानपुर, बीएनएम न्यूज : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने तीसरे चरण के चुनाव प्रचार के आखिरी दिन शनिवार को कन्नौज, कानपुर व उन्नाव में जनसभा की।

मुख्यमंत्री ने तीनों सीट पर क्रमशः सुब्रत पाठक, रमेश अवस्थी, साक्षी महाराज तथा अकबरपुर से देवेंद्र सिंह ‘भोले’ को कमल के फूल पर विजयश्री दिलाने की अपील की।सीएम योगी ने सपा-कांग्रेस व इंडी गठबंधन पर करारा प्रहार किया। कन्नौज में अखिलेश यादव को खूब खरी सुनाई।बोले कि इंडी गठबंधन को यहां प्रत्याशी नहीं मिल रहा था, इसलिए वे चुनाव लड़ रहे हैं। पहले को टिकट दिया, फिर उसका टिकट काट दिया।

दूसरे को दिया तो वह मैदान छोड़कर भाग गया। तीसरे की घोषणा की तो वह मना कर दिया। जब कोई नहीं मिला तो सपा अध्यक्ष कह रहे हैं कि सेवा करना चाहता हूं।कन्नौज की इत्र में बदबू फैलाने का काम कर रहे थे। यह मुख्यमंत्री आवास बुलाकर दंगाइयों का महिमामंडन करते थे।

घर-घर जाकर कहिए कि हमें रामभक्त चाहिए, रामद्रोही नहीं

कन्नौज में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आमजन से आह्वान किया कि घर-घर जाकर कहिए कि हमें रामभक्त चाहिए, रामद्रोही नहीं।

सीएम ने कहा कि भाजपा ने कहा था कि रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे। सौगंध राम की खाते हैं, मंदिर वहीं बनाएंगे।तब सपा के लोग रामभक्तों पर गोलियां चलाते थे।इनके समय में अयोध्या में आतंकी हमला हुआ था। यह लोग आतंकियों के मुकदमे वापस लेते थे।

कांग्रेस ने देश और सपा ने यूपी की जनता की सुरक्षा के साथ खिलवाड़ किया। यह फिर मिलकर जोर आजमाइश करना चाहते हैं।कांग्रेस अपने और सपा सैफई परिवार को धन-संपदा से परिपूर्ण करने के लिए मैदान में है तो भाजपा राष्ट्रहित के लिए चुनाव लड़ रही है।

सीएम ने कहा कि सपा सरकार में गुंडागर्दी का आलम यह था कि प्रदेश की बेटियां छात्रावास में जाकर रहने को विवश होती थीं। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव पर तंज कसते हुए योगी आदित्यनाथ ने कहा कि इनकी संवेदना राम मंदिर, भारत, रामभक्तों, आमजन के प्रति नहीं, बल्कि माफिया, भारत के खिलाफ वक्तव्य देने वालों के प्रति है।

मोदी सरकार ने आतंकवाद की नाभि पर किया है प्रहार

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कानपुर में कहा कि अगर इंडी गठबंधन सत्ता में आता है तो देश में फिर आतंकवाद और नक्सलवाद का दौर शुरू हो जाएगा।

कांग्रेस ने सबसे पहले भारतीय संविधान में संशोधन करते हुए अभिव्यक्ति की आजादी को रौंदने का कार्य किया था।उन्होंने कहा कि कानपुर को मां गंगा के आशीर्वाद से उर्वरता और उद्यमिता का वरदान मिला है। ये क्रांति धरा होने के साथ ही देश के विकास की ऊर्जा की भूमि भी है।

विपक्षियों पर हमलावर योगी ने कहा कि इंडी गठबंधन नकारात्मक राजनीति के कारण अपनी विश्वसनीयता खो रहा है। इनको पाकिस्तान के हितों और आतंकियों पर दायर मुकदमों को वापस लेने की चिंता होती है। यह चाहते थे कि जैसे भी हो, अयोध्या में राममंदिर का निर्माण न हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि 2014 से पहले देश में आतंकी विस्फोट में निर्दोष लोग और जवान शहीद होते थे। अब ये नहीं हो सकता, क्योंकि मोदी सरकार ने आतंकवाद की नाभि पर प्रहार किया है।

राम मंदिर पर उंगली उठाने वाले मस्जिद पर क्यों रहते हैं मौन

उन्नाव में सीएम योगी ने कहा कि राम भक्त की राजनीति राष्ट्र के लिए होती है। वहीं रामद्रोहियों की राजनीति परिवार के लिए होती है। वह अपने परिवार से ज्यादा कुछ नहीं सोचते हैं। समाजवादी पार्टी ने अपने ही परिवार के लोगों को टिकट दिया है।

वर्तमान में यह पांच सीटों पर लड़ रहे हैं। अभी इनके बच्चे और नाती पोते होने दीजिये, वह भी चुनाव लड़ेंगे। यह जनता का खून चूसते हैं। वहीं जब राजनीति राष्ट्र के लिए होती है तो दुनिया में देश का सम्मान होता है।

मुख्यमंत्री ने रामद्रोहियों की जमानत जब्त कराने की अपील करते हुए कहा कि इनके स्वर आपको सुनाई दे रहे होंगे। कांग्रेस के बुद्धिदाता कहते हैं कि राम मंदिर देश के अंदर नहीं बनना चाहिये था। समाजवादी पार्टी कहती है राम मंदिर बेकार बना है।यह बात ये क्या किसी मस्जिद के लिए कह सकते हैं। यह ऐसा नहीं कर सकते हैं क्योंकि इनमें इतनी हिम्मत ही नहीं है।

राम मंदिर पर उंगली उठाने वाले ये रामद्रोही हैं। आज अयोध्या में दीपोत्सव, मथुरा-वृंदावन में रंगोत्सव, काशी में देव दीपावली धूमधाम से मनाई जा रही है।

भारत न्यू मीडिया पर हिंदी में ब्रेकिंग न्यूज, Hindi News देश-विदेश की ताजा खबर, लाइव न्यूज अपडेट और स्‍पेशल स्‍टोरी पढ़ें और अपने आप को रखें अप-टू-डेट। National News in Hindi  के लिए क्लिक करें इंडिया सेक्‍शन

What’s your Reaction?
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0
+1
0